Ticker

6/recent/ticker-posts

Navratri Kab Se Shuru Hai: The Single Best Strategy To Use For Navratri Kab Se Shuru Hai

The Single Best Strategy To Use For Navratri Kab Se Shuru Hai


सिद्धगंधर्वयक्षाद्यैरसुरैररमरैरपि।

लाइव टीवी और भी+ देश दुनिया एक्सक्लूसिव क्रिकेट स्पोर्ट्स बिजनेस यूटिलिटी राशिफल एंटरटेनमेंट

The colour peacock environmentally friendly signifies individuality and intelligence. On Day eight of Navratri dress in the peacock environmentally friendly colour to find the blessed with features of peace, uniqueness, and compassion in the direction of fellow beings.

अरविंद केजरीवाल और भगवंत मान आज गुजरात दौरे पर, संविदा व आउटसोर्स कर्मचारियों को करेंगे संबोधित

शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥

टेक एंड गैजेट्स क्राइम ऑटो हेल्थ लाइफस्टाइल रेसिपी ट्रेंडिंग वायरल एजुकेशन सरकारी नौकरी विजुअल स्टोरीज

– विष्णु पुराण की अनुसार नवरात्रि व्रत रखने वालों को दिन में नहीं सोना चाहिए।

× लॉगिन/साइन अप एस्ट्रोयोगी पर लॉगिन/साइन अप के लिए कृपया अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें।

कोई भी नया प्रोजेक्ट, नया घर या नई गाड़ी खरीदने जैसे मांगलिक कार्य नहीं करना चाहिए।

माँ कात्यायनी: माता कात्यायनी के पूजन से बृहस्पति ग्रह से जुड़ें दुष्प्रभावों का निवारण होता हैं।

Navratri Kab Se Shuru Hai:  On Navami, Devi Siddhidaatri is presented significance. She is highly effective to fulfill your wishes and as a result the ninth day is dedicated to her.

Navratri Kab Se Shuru Hai
Navratri Kab Se Shuru Hai


महाराष्ट्र में मुस्लिमों का सर्वे कराएगी एकनाथ शिंदे की शिवसेना और बीजेपी की सरकार, जानिए मकसद

Donation (Daan) to try and do to the Fourth Day of Navratri: Within the fourth working day of Navratri, people should give lovely cloths to the women. In keeping with your money condition, it is possible to present handkerchiefs or colourful ribbons also.

चैत्र नवरात्रि के अंतिम दिन अर्थात नवमी तिथि को भगवान श्रीराम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। इस तिथि को रामनवमी के नाम से भी जाना website जाता है। ऐसी मान्यता है कि इसी दिन अयोध्या में भगवान श्रीराम ने माता कौशल्या के गर्भ से जन्म लिया था। इस वज़ह से चैत्र नवरात्रि को राम नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है। 

Post a Comment

0 Comments